TMC सांसद और अभिनेत्री नुसरत जहाँ ने तेजस्वी सूर्या पर किया पलटवार, तेजस्वी सूर्या ने ममता बनर्जी पर बोला था हमला

2021 पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों पर अपनी निगाहें जमाते हुए, भाजपा ने अपनी सीटों के उत्थान के लिए जोरदार प्रचार अभियान शुरू कर दिया है। आगामी चुनावों में अमित शाह की 200 से अधिक सीटें जीतने के दावे के बाद, भाजपा युवा मोर्चा (BJYM) के अध्यक्ष तेजस्वी सूर्य ने दावा किया है कि उनकी पार्टी यह सुनिश्चित करेगी कि ममता बनर्जी की ‘फासीवादी सरकार’ इस चुनाव में बाहर हो जाए।

दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए, बेंगलुरु सांसद ने कहा कि “भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष के रूप में, मैं बंगाल में भाजयुमो के हर एक कार्तिकार को आश्वस्त करना चाहता हूं कि एक भी बलिदान या शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि ममता बनर्जी के इस निरंकुश, तानाशाही और फासीवादी सरकार को दरवाजा दिखाया जाएगा”।

तेजस्वी सूर्या के इस टिप्पणी पर अभिनेत्री व TMC सांसद TMC सांसद नुसरत जहाँ का तेजस्वी पर हमला, ममता बनर्जी को बताया था तानाशाही ने बिना कोई समय बर्बाद करते हुए तेजस्वी के बयान को ट्वीट किया और लिखा “तेजस्वी सूर्या, हास्यास्पद बयान देने के बजाय, वास्तविक फ़ासीवादी कौन हैं, यह पता लगाने के लिए अभी एक दर्पण के सामने चले जाओ। असली फ़ासीवादी बीजेपी में बैठे तुम्हारे बॉस हैं जिन्होंने 2014 के बाद से अपनी निरंकुशता और नफरत की राजनीति से इस देश को तबाह कर दिया है!

यह भी पढ़े: तेलंगाना टोपर, लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा ने की खुदकुशी, लोकडाउन को बताया वजह!

नुसरत जहाँ उस वक़्त भी आक्रामक थीं जब अमित शाह आदिवासी के घर भोजन करने के गए थे।

बशीरहाट की सांसद नुशरत ने अमित शाह की यात्रा पर कहा, ‘बंगाल के लोग अतिथि से प्यार करते हैं, इसलिए इन लोगों को बंगाल आने दिया जा रहा है। अन्यथा उन्हें कभी बंगाल आने की अनुमति नहीं दी जाती। लेकिन वह (अमित शाह) बंगाल आ सकते हैं। हालांकि, उनकी पार्टी को कभी भी बंगाल आने की अनुमति नहीं दी जाएगी।” नुसरत अपने इस बयान पर आज भी कायम हैं।

अभिनेत्री नुसरत जहान ने केंद्रीय गृह मंत्री की कड़ी आलोचना की है। नुसरत जहान ने सीधे तौर पर अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा, “ईश्वर चंद्र विद्यासागर से लेकर बिरसा मुंडा तक … बंगाल के महापुरुषों, अमित शाह द्वारा इतना अनादर।”

तृणमूल कांग्रेस के अनुसार, अमित शाह द्वारा जिस मूर्ति पर माल्यार्पण की गई वह मूर्ति बिरसा मुंडा की नहीं थी। इसलिए मूर्ति के नीचे बिरसा मुंडा की तस्वीर लगाई गई। “आप अपने राजनीतिक प्रचार के लिए बंगाल की संस्कृति और विरासत का कितनी बार दुरुपयोग करेंगे?” नुसरत ने कहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *